क्वारंटाईन सेंटर पर खाना और नाश्ता पहुंचाने पर खर्च हो गए 60 लाख रुपए – केवल 100 दिनों में मनपा ने खर्च दी बड़ी राशि – दोषी अधिकारियों पर निलंबन की कार्रवाई करने की पार्षद पप्पू देशमुख ने की मांग

0
155

 

ऐसी हुई लूट
115 रुपए का भोजन – 124 रुपए
30 रुपए का नाश्ता – 36 रुपए
5 रुपए कट चाय – 10 रुपए में
2 रुपए का बिस्कुट – 4 रुपए में
5 रुपए का बिस्कुुट – 6.50 रुपए में
10 रुपए की पानी की बोतल – 14 रुपए में
6.50 रुपए की पानी की बोतल – 8.30 रुपए में

चंद्रपुर :
चंद्रपुर जिले में बाहर से आए लोग और संदिग्ध कोविड मरीजों को पिछले कुछ माह से क्वारंटाईन सेंटर में रखा जा रहा है. यहां रखे गए लोगों को भोजन और नाश्ता, चाय-पानी, बिस्कुट देने की जिम्मेदारी मनपा के पास है. लेकिन मर्जी का ठेकेदार इसके लिए नियुक्त किए जाने से पिछले 100 दिनों में मनपा का 60 लाख रुपया इस पर खर्च हो गया है. ऐसी जानकारी जन विकास सेना के अध्यक्ष पार्षद पप्पू देशमुख ने दी है.
मई और जून माह में जिस ठेकेदार के माध्यम से भोजन, नाश्ता और चाय देने का काम किया जा रहा था. उसे लेकर कोई शिकायतें नहीं थी. इसके बावजूद जून माह में पुराने कैटरर्स को हटाकर नए की नियुक्ति की गई. नागपुर की रॉयल आॅर्किड हॉटेल लिमिटेड एजेंसी ने निविदा पेश की. आयुक्त ने उनके लिए नए से दर तय किए. लेकिन ये दर पहले वाले कैटरर्स के दरों से ज्यादा थे. यही कारण है कि मनपा का पिछले 100 दिनों में 60 लाख रुपए खर्च हो गया है. सौ दिनों में 4 करोड़ 28 लाख 64 हजार 302 रुपए का बिल ठेकेदार के लिए चुकाया गया है.
आरोप लगाया जा रहा है कि संबंधित ठेकेदार और मनपा के किसी अधिकारी के बीच संबंध होने से उसे ये काम दिया गया है. जन विकास सेना के अध्यक्ष नगरसेवक पप्पू देशमुख ने इस मामले में जांच कराकर संबंधितों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here