मनोज अधिकारी हत्याकांड : पुलिस की जांच दिशाहीन ; अबतक की जांच से संतुष्ट नहीं है परिजन ; अब भी खुली घुम रही है आरोपी हसीना

155

मनोज अधिकारी हत्याकांड : अब भी पुलिस की जांच दिशाहीन

अबतक की जांच से संतुष्ट नहीं है परिजन
अब भी खुली घुम रही है आरोपी हसीना

चंद्रपुर : कांग्रेस के कार्यकर्ता मनोज अधिकारी हत्याकांड मामले में अब भी पुलिस की जांच दिशाहीन नजर आ रही है. उधर पुलिस की अबतक की जांच से क्षेत्र के नागरिक और मनोज के परिजन संतुष्ट नहीं है. आज आरोपियों को दिया गया पीसीआर खत्म होने को है, लेकिन पुलिस इस मामले में अब भी कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है. उधर इस मामले में लिप्त आरोपी हसीना अब भी खुली घुम रही है. जबकि पता चला है कि पुलिस ने उसका मोबाइल नंबर हासिल कर लिया है.

सोमवार को कैंडल मार्च निकालने के बाद नागरिक इस मामले में दबाव बनाने के लिए अब एसपी से मिलने वाले है. जानकारी है कि पुलिस अधीक्षक ने अबतक की जांच संतोषजनक नहीं होने की वजह से लोकल क्राइम ब्रांच को जांच सौंप दी है. उल्लेखनीय है कि पहले गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के लिए न्यायालय ने 5 दिन का पीसीआर दिया था. बाद में इसे पुलिस की मांग पर 2 दिन के लिए और बढ़ा दिया था. लेकिन ये मीयाद भी आज खत्म हो रही है. इसके बाद भी पुलिस अब भी खाली हाथ नजर आ रही है. ऐसे में ये सवाल उठ रहा है कि क्या मनोज अधिकारी हत्याकांड की गुत्थी चंद्रपुर पुलिस सुलझा पाएगी भी या नहीं? जानकारी मिल रही है कि पुलिस ने रवींद्र के घर से एक लैपटॉप व मोबाइल जब्त किया है. जिसमें मृतक मनोज व रवींद्र के बीच 16 लाख 40 हजार रुपए के लेनदेन का मामला होने की बात समझ में आर्ई है.

आखिर क्यों पुलिस की गिरफ्त से दूर है ‘कातिल हसीना’
शहर में मनोज अधिकारी का निर्ममता से खून कर दिया जाता है. पुलिस इस मामले में चार आरोपियों के लिप्त होने की बात भी कहती है. मामला दर्ज करती है. लेकिन गिरफ्तार होते है केवल तीन लोग. चौथी लड़की न सिर्फ पुलिस से बचती रहती है बल्कि पुलिस को उसका अता पता ही नहीं चलता. आखिर इस मामले में चंद्रपुर पुलिस इतनी लाचार क्यों नजर आ रही है? इस बीच जिस हसीना के खिलाफ पुलिस ने अपराध दर्ज किया है, उसका मोबाइल नंबर पुलिस ने लंबे समय के बाद हासिल कर लिया है. लेकिन कहा जा रहा है कि उसका मोबाइल बंद है. ये बेहद हास्यास्पद है कि हत्या के कुछ दिनों तक सोशल मीडिया में एक्टिव रहने वाली इस ‘कातिल हसीना’ को सभी ने देखा लेकिन पुलिस को ही इसकी भणक नहीं लगी. अब तो हालात ऐसे हो गए है कि उसने अपना मोबाइल भी बंद कर दिया है और पुलिस है कि इस हसीना को पकड़ने को लेकर कोर्ई रणनीति बनाती हुर्ई नजर नहीं आ रही है.