अभी तक नहीं मिले वर्धा नदी में डूबे नाबालिग

0
249

घुग्घुस (चंद्रपुर) :

शनिवार को नहाने गए पांच लोगों में से तीन नाबालिगों की डूबने से मौत हो गईं थी. लेकिन तुरंत इन नाबालिगों को खोजने का अभियान छेड़ने के बाद भी 23 घंटे बाद तक पुलिस के हाथ नाबालिगों के शव नहीं लग सके है. उल्लेखनीय है कि शहर के अमराई वॉर्ड नंबर एक के तीन लड़के नदी में डूब गए थे.

इस दर्दनाक हादसे के चश्मदीद अनिल गोगुला (20) ने बताया कि उसके साथ प्रेम गेडाम (18), प्रचल वानखेडे (17), पृथ्वी आसुटकर (17), सुजल बोरकर (14) नहाने के लिए गए थे. नदी के बीचो – बीच पत्थरो पर कपडे निकालकर नदी में छलांग लगाई लेकीन नदी की तेज़ धारा और गहरे पानी में सभी डूब गये. अनिल गोगुला को तैरना आने की वजह से उसने सबसे छोटे सुजल बोरकर (14) की जान बचा ली लेकीन अन्य तीन में से प्रेम गेडाम, प्रचल वानखेडे, पृथ्वी आसुटकर नदी के गहरे पानी व तेज धारा मे बह गए. इस घटना की जानकारी अमराई वार्ड के निवासी कामगार नेता सैय्यद अनवर को मिलते ही उन्होंने घुग्घुस पुलिस को सूचित किया और चिंचोली गाव के पूर्व सरपंच तथा गोताखोर जयंता निखाडे को घटना की सूचना देकर डुबे लड़कों की तलाश में नदी पर भेजा.

शाम तक शोध कार्य में सफलता प्राप्त नही होने से चंद्रपुर से बचावदल और बोट मंगवाई गई किंतु अंधेरा होने की वजह से तलाश कार्य रोक दिया गया.अभी लगभग 23 घटें बित गए लेकिन अभी तक उन लड़कों का पता नहीं चला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here