पद्मापुर खदान डेंजर जोन घोषित ; 960 कामगार आये संकट मे

0
669

वेकोलि नागपुर के डीजीएमएस ने लागू की प्रतिबंधित धारा २२
उत्खनन व आवागमन पर रोक,

हादसे की गहनता, दोषी अधिकारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

चंद्रपुर :

बुधवार १८ नवंबर को दोपहर १ बजे के दौरान चंद्रपुर वेकोलि मुख्यालय के तहत आने वाले पद्मापुर ओपन कास्ट (खुली कोयला खदान) में घटित बड़े हादसे में टीला ढह गया था। इससे वेकोलि को करोड़ों का नुकसान होने की सूचना मिलते ही गुरुवार को नागपुर वेकोलि मुख्यालय की डीजीएमएस की टीम ने पहुंचकर घटना स्थल का मुआयना किया। इसे डेंजर जोन घोषित करते हुए खान परिसर में प्रतिबंधित धारा २२ लगाने के आदेश दिये गये। इसके चलते अब लंबे समय के लिए खान का कामकाज व उत्पादन ठप रहेगा। यहां कार्यरत ९६० कामगारों में जहां हादसे का खौफ बना हुआ है, वहीं धारा २२ के चलते अधिकांश खान कामगारों को स्थलांतरित करने की समस्या निर्माण हो गई है।

● जांच के बाद तय होगी जवाबदेही
खान हादसे के बाद वेकोलि को करोड़ों का नुकसान हुआ है। इस क्षति के लिए जिम्मेदार वेकोलि के अधिकारियों की जांच नागपुर मुख्यालय से की जा रही है। स्थानीय अधिकारियों की जवाबदेही तय करने के लिए डारेक्टर जनरल ऑफ माइन्स सेफ्टी(डीजीएमएस) सागेश कुमार के साथ डारेक्टर टेक्नीकल ऑपरेशन मनोज कुमार की टीम हर पहलु की जांच में जुटी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here